Monday, August 16, 2010

यूँ बदली है दुनिया( रानीविशाल)

खामोशी भी
सरगम गाए
करे तन्हाई अब
चहल पहल
पंख हजारों मिले
सपनों को
अरमानो ने
भरी उड़ान
खिले मन की
बगीया में
कई फूल
अचानक
उमंगों के भँवरें
गुन गुनाए
तन मन
महक उठा
चन्दन सा
बरखा
भी गीत
ख़ुशी के गाए
इन्द्रधनुष से
रंग सजे और
खुद मैं ही सहसा
बनी बहार
बस दो पल मैं
यूँ बदली है
दुनिया
हुई है जबसे
आँखें चार...!!
*************************************************
आज आपको केलिफोर्निया के कुछ सिनिक ड्राईवस के चित्र दिखा रही हूँ । ये पॉइंट्स लॉस एंजेलिस से सेन डिएगो तथा लॉस एंजेलिस से सेन फ्रांसिस्को जाते हुए आते है । इनमे सी ए १ , हाफ मून , और १७ माईल्स प्रमुख है । हर एक पॉइंट आपने आप में बहुत खुबसूरत है । प्राकृतिक सुन्दरता से संपन्न ये स्थान रुकने को मजबूर करते है ....देखिये




























































26 comments:

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' said...

सुन्दर कविता...
और इतने खूबसूरत चित्रों की प्रस्तुति के लिए धन्यवाद.

मनोज कुमार said...

आस्था और आशावादिता से भरपूर स्वर इस कविता में मुखरित हुए हैं।

MUFLIS said...

sundar kavya...
mn-bhavan chitraavaleee...
bahut khoob !!
abhivaadan .

अनामिका की सदायें ...... said...

सुंदर चित्रों के साथ साथ सुंदर भावो से ओतप्रोत सुंदर कविता.

PD said...

रानी जी, एक चित्र यह भी देखिये.. चेन्नई-बैंगलोर हाइवे की.. पूजा के ब्लॉग पर आपके कमेन्ट से यहाँ तक पहली बार आया हूँ.. ब्लॉग अच्छा लगा.. अभी जाता हूँ आपके कुछ पुराने पोस्ट पढ़ने.. :)

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत सुन्दर भावपूर्ण रचना ...

'अदा' said...

sundar prastuti..
chitr bhi bahut sundar..

वाणी गीत said...

अँखियाँ चार होते ही यूँ बदल जाती है दुनिया ...
चंद पलों में ही
सुन्दर कविता ...
सुन्दर चित्र ...!

Arvind Mishra said...

मानव मन की श्रृंगारिकता और निसर्ग का बिखरा सौन्दर्य -दोनों का कितना खूबसूरत ब्लेंड -आप एक कुशल शिल्पी हैं !

राजभाषा हिंदी said...

सुंदर प्रस्तुति!


“कोई देश विदेशी भाषा के द्वारा न तो उन्नति कर सकता है और ना ही राष्ट्रीय भावना की अभिव्यक्ति।”

महफूज़ अली said...

खूबसूरत चित्रों के साथ............ बहुत सुंदर कविता...........

Sonal said...

sundar shabadon mein dhali hui kavita.. photographs bhi achi lagi...

Meri Nayi Kavita par aapke Comments ka intzar rahega.....

A Silent Silence : Ye Kya Hua...

Banned Area News : Aditya Chopra goes Ga- Ga over Katrina Kaif

महेन्द्र मिश्र said...

बहुत सुन्दर सचित्र प्रस्तुति....आभार

Rajey Sha said...

ईश्‍वर ने आपको प्रकृति‍ की खूबसूरती के दर्शन के काफी मौके दि‍ये हैं, बधाई हो।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

सुन्दर चित्र सजे हुए, बतियाते हैं मौन।
प्राकृतिक संगीत को, छेड़ रहा है कौन।।
--
कल के चर्चा मंच पर भी यह पोस्ट चर्चित है!

डॉ टी एस दराल said...

वाह , बहुत मनोरम दृश्य प्रस्तुत किया हैं । आभार ।

वन्दना said...

खूबसूरत चित्रों के साथ सुन्दर प्रस्तुति।

Akanksha~आकांक्षा said...

खूबसूरत कविता और बेहतरीन चित्र..मन प्रसन्न हो गया.
_________________________
'शब्द-शिखर' पर प्रस्तुति सबसे बड़ा दान है देहदान, नेत्रदान

काजल कुमार Kajal Kumar said...

कविता व चित्र दोनों ही एक से बढ़कर एक.

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत ही सुंदर चित्र और भावप्रवण रचना के लिये बहुत शुभकामनाएं.

रामराम.

Udan Tashtari said...

सुन्दर रचना-सुन्दर चित्र.

हरकीरत ' हीर' said...

मोहब्बत की प्यारी सी नज़्म ......
चित्र भी मनमोहक .....
इतने दिन कहाँ रहीं ....?

सुरेश यादव said...

रानी जी,आप की कविता तो भाव पूर्ण है ही ,जिसके लिए आप को बधाई देना चाहता हूँ .आप ने जिन चित्रों का चुनाव किया और हम तक पहुँचाया है वे भी अपने आप में सार्थक कवितायेँ हैं.साधुवाद

sandhya said...

रानी जी , नमस्कार . आप की सारी रचना बेहद अच्छी होती है . क्या ईमेल में सीधे आप पोस्ट कर सकती हैं क्योंकि जो आपकी नयी रचना है २ भाग के बाद कही छुट न जाये .

sandhya said...

रानी जी , नमस्कार . आप की सारी रचना बेहद अच्छी होती है . क्या ईमेल में सीधे आप पोस्ट कर सकती हैं क्योंकि जो आपकी नयी रचना है २ भाग के बाद कही छुट न जाये .

sandhya said...

रानी जी , नमस्कार . आप की सारी रचना बेहद अच्छी होती है . क्या ईमेल में सीधे आप पोस्ट कर सकती हैं क्योंकि जो आपकी नयी रचना है २ भाग के बाद कही छुट न जाये .